TDS: Section 194 J के तहत Professional or Technical सेवा Fees के लिए TDS कब और कितना कटेगा।

TDS के बारे मे आप जानते ही होगे की कुछ प्रकार का Payment करने से पहले उसका TDS यानि की Tax काट के सरकार को जमा कराना होगा। जो की Income आने से पहले Tax Deduct हो गया होगा। तो आज हम TDS के एक Section 194 J के बारे मे जानेगे की TDS का Section 194 J क्या है कोनसे पेमेंट के लिए ये लागू होता है। Professional और technical फीस के लिए कितना TDS Deduct होगा और कब होगा?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Page Follow

TDS की धारा 194 J तहत Professional or Technical पे TDS (TDS on Professional or Technical Fees In hindi)

TDS के Section 194 J मे अगर आप कोई Service लेते है Professional या Technical तो कुछ लिमिट से ज्यादा का Payment पे आपको कुछ प्रतिशत TDS Deduct करके सरकार को जमा करना होता है और उतना Cut करके Payment सामने वालों को करना होता है।

TDS मे Section 194- J Professional or Technical Fees Payment के लिए है।

TDS Section 194- J किस पर लागू होता है और TDS किसको Deduct करना होगा।

Section 194 J के तहत उन सब को TDS करना होगा जो लिमिट से ज्यादा की Fees का पेमेंट करते है जैसे की Individual, Company, Partnership, HUF, LLP जो Section 44AB मे Tax audit के लिए liable है।

यहा हम उपर उपर से देख लेते है की Section 44AB क्या है?

Section 44 AB मे वो सामील होते है जिसको Audit करना आवश्यक है।

जिसका Business 1 करोड़ से ज्यादा है या profession Income 50 लाख से ज्यादा है इन business और service वालों को TDS कट करना अनिवार्य है।

यानि की हर कोई आम आदमी को TDS cut करना जरूरी नही है। 1 Cr से कम Turnover और 50 लाख से कम के Service वालों को TDS Deduct करने की जरूर नही है।

TDS Section 194 J मे कोनसे कोनसे प्रकार के service के लिए TDS लागू होगा?

नीचे दिये गए कुछ प्रकार के Payment पे TDS cut होगा यानि की TDS Section 194 J मे कोनसे कोनसे Professional or Technical service सामील है?

  • Professional fees ( यानि की कोई Professional Fees देनी कोई सेवा के लिए जैसे CA,Doctor, Engineer ETC…)
  • Fees for technical services (यानि की कोई Software खरीदना या कुछ Repair करना और ये सब समज सकते है)
  • Remuneration paid to directors excluding salary (For e.g., sitting fees to attend board meetings) (Director को Salary के अलावा कोई Remuneration यानि की Meeeting के लिए हिस्सा लेने के लिए दी गयी fees)
  • Royalty
  • Payments in the nature of non-compete fees (i.e., fees paid to not carry on any business or profession for a specified time and within certain geographical boundaries) or fees paid to not share any technical knowledge or know-how.
  • non competence fees का मतलब ऐसी फीस से है जो कि किसी पर्सन को कोई किसी बिज़नेस या प्रोफेशन को नहीं करने के लिए दी जा रही हो।

non competence fees का मतलब ऐसी फीस से है जो कि किसी पर्सन को कोई किसी बिज़नेस या प्रोफेशन को नहीं करने के लिए दी जा रही हो।



TDS Section 194 J मे कब TDS cut करना होगा? (TDS Payment limit of Professional or Technical service)

TDS Deduct करने के लिए Professional or Technical service की Limit है अगर उससे ज्यादा का payment करने पे आपको TDS काटना होगा।

अगर आप कोई Professional or Technical service के लिए 30,000 से ज्यादा का भुगतान करने पे TDS cut करना होगा। ये लिमिट सालाना है यानि की साल मे 30 हज़ार से ज्यादा का Payment करते हो तो आपको TDS कट करके Payment करना होगा।

TDS Rate of Section 194 J Professional or Technical l धारा 194 J के तहत TDS के दर:-

TDS के Section 194 J Professional or Technical service के Payment के लिए टीडीएस 10 % की रेट से काटा जायेगा। लेकिन, अगर पेमेंट किसी ऐसे पर्सन को किया जा रहा हो जो कि सिर्फ Call centre के ऑपरेशन के बिज़नेस में लगा हुआ हो तो 2 % की रेट से TDS काटा जायेगा।

Nature of paymentsRate of tax deduction
Any payment of fees for technical service2%
Payments made to operators of call centres2%
Payment of royalty for sale, distribution or exhibition of cinematographic films.2%
All other payments covered under this section10%
Payee does not furnish his/her PAN20%

 Tds on fees for professional or technical services section 194 J

TDS Section 194 J मे किस तरह की सर्विसेज को प्रोफेशनल या टेक्निकल सर्विसेज माना गया है ? TDS on fees for Professional or Technical services section 194 J

Professional Service

  • legal,
  • मेडिकल,
  • engineering,
  • architectural profession,
  • profession of accountancy,
  • टेक्निकल कंसल्टेंसी,
  • इंटीरियर डेकोरेटर,
  • विज्ञापन ( मॉडल्स, फोटोग्राफर, आर्टिस्ट द्वारा advertising एजेंसी को सर्विस प्रदान करना ),
  • सेक्शन 44AA में बताये गए अन्य प्रोफेशन (authorised representative या फिल्म आर्टिस्ट या कंपनी सेक्रेटरी या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी आदि )
  • sports persons, commentators, event managers, anchors, umpires and referees, physiotherapists, coaches and trainers, team physicians, and sports columnists

इन Service को इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 194 j में टीडीएस काटने के लिए प्रोफेशनल सर्विसेज में बताया गया है।

Technical Service:

  • One can define technical services as providing services that involve technical expertise or expertise in technology. 
  • The scope of managerial services can be defined as running and management of the business of the client. 
  • Consultancy services can be understood as advisory services wherein necessary advice and consultation are given to the clients for their business.

Technical Service मे कोई इंसान वो Service देने वाला होना चाहिए कोई Machine नही।

Royalty

  • Transfer of rights or usage of an invention, model, design, trademark, patent, etc.
  • Use of patents, inventions, designs, etc.
  • Provide any information related to using an invention, patent, formula, etc.
  • Transfer of rights related to scientific findings, literary work, films or videotapes for radio broadcasting but does not include consideration for the sale, exhibition, or distribution of cinematographic films.
  • Providing any information related to technical, industrial, commercial or scientific knowledge, experience or skill

TDS कब जमा करना होता है? Time Limit within which Tax is to be Deposited

TDS हमे कट किया है यानि की आपने को सरकार को जमा भी करना होता है तो जिस महीने TDS जमा किया है उसके अगले महीने के 7 दिन मे सरकार को TDS जमा करना होता है जैसे की April महीने का TDS may महीने की 7 तारीख तक सरकार को देना होता है। और March का अलग रूल है की 30 अप्रैल तक TDS जमा करना होता है।

आगे हमने Basic of TDS वाली Post मे ये सारी चीजे बताई थी। वो वाला Post आप पड़ सकते है।

Section 194 J मे TDS कब काटा जाता है? (When does TDS under Section 194J need to be deducted?)

  • TDS काटने की जीमेदारी पेमेंट करने वाले की होती है। यानि की Service लेने वाले की। और TDS cut करके सरकार को जमा करना होता है। तो ये TDS कब कट लारना होता है वो जरूरी है।
  • जब आप अपने Account मे वो Entry दिखाते हो यानि की party के नामे पर Credit करते हो तब नही तो जब भी Payment करते हो उसमे से जो पहले किया हो तब TDS Deduct किया जाता है।
  • यानि की अगर आपने पहले अपने अकाउंट मे Entry दिखाई तब ही आपको TDS अलग कर देना है। नही तो Payment अगर पहले किया हो तो TDS कट करना होता है।

TDS मे ज़्यादातर जो पहले किया हो तब ही TDS काटना होता है। और सरकार को जमा करना होता है।

TDS Certificate कब देना होता है? (Issue TDS Certificate)

जो हमने TDS Deduct किया है उसका प्रूफ के लिए Certificate देना होता है। जोकि जिसका TDS कट किया है उसको देना होता है। नीचे आप देख सकते है की कब कब Certificate दिया जाता है। एक quarter पूरा होने के बाद के महीने की 30 तारीख तक Certificate देना होता है।

QuarterDue date for Non-Government deductorDue date for Government deductor
April to June30th July15th August
July to September30th October15th November
October to December30th January15th February
January to March30th May30th May

Issue of TDS certificate Date

TDS मे Payment हर महीने करना होता है और TDS का Return Quarterly file करना होता है।

Tally मे TDS Deduction की Entry कैसे करे? (How to do TDS entry in Tally)

अगर आप किसी का TDS कट करते है तो आपको Tally मे ये भी बताना होता है की TDS कितना काटा है और साथ मे कितना Payment party को किया है।

तो Tally मे सबसे TDS का Ledger बनाना होगा जो की TDS applicable करके TDS का Ledger बनके Under Group मे Duties & Tax मे आएगा और वह आपको TDS Select करके Section Rate सब डीटेल लिख देनी है।

बाद मे जरूरी Ledger भी बना दे जैसे की party का Ledger और Services का Ledger।

Journal Voucher मे (F7) मे Service को Dr करे और TDS और Party को Cr। करे।

जैसे की 35000 के Advertising मे MR X को 10% TDS करके payment करना है तो कुछ इस प्रकार से Entry करनी होगी।

Dr. Advertising Rs. 35000

Cr. Mr. X a/c Rs. 31500

Cr. TDS Rs. 3500

समीक्षा:-

TDS section 194 J Professional or Technical service के पेमेंट के लिए है जो की 30 हज़ार से ज्यादा का Payment करने पर TDS कट करना होगा। जो की 44AB के तहत भी सामील हो। TDS का डट 194 J मे 10% है लेकिन Technical Service के लिए 2% है और कॉल सेंटर वालों के लिए भी 2% है।

Leave a Comment