Types of ITR forms: ITR क्या होता है? कितने ITR Forms आते है जाने आपके लिए कोनसा Form है सही?

Income Tax Return file करने का समय आ गया है और Income tax के Portal पे ITR forms आ गए है इसलिए अगर आप अपना Return खुद फ़ाइल करना चाहते है या किसी और का तो आपको ITR forms के बारे मे पता होना चाहिए। ITR form क्या है कितने type के आते है और कोनसा ITR कोन file कर सकता है ये basic तो आपको पता होना चाहिए।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Page Follow

आज मै ITR forms के बारे मे बता ने वाली हु की ITR forms क्या होते है? कोनसी Income के लिए कोनसा ITR file करना चाहिए? अगर आपको फिर भी ज्यादा समज नही आ रहा है की कैसे ITR file करे और कोनसा तो आप मेरा contact कर सकते है आप Instagram पे DM कर सकते है @the_digital_anjali पे।

ITR Forms क्या है? (what is ITR Forms in hindi?)

ITR का Full Form Income Tax Return है। ITR form यानि की हर एक इंसान की अलग अलग जगह से Income आती है तो Income tax मे 7 Type के अलग अलग Form है। और सब मे अलग अलग rules है की कोनसी Income पे और कितनी इंकम तक कोनसा ITR File कर सकता है? तो आज हम Detail मे जानेगे ITR Forms के बारे मे। All about Income tax Return (ITR) forms।

ITR क्या है? (ITR meaning in hindi?)

ITR का Full form Income tax return है हम जहा सारी Incomes, खर्चे,Investments, Deduction और  Exemption  सारा कुछ बताते है वो Income Tax Return है।

Return यानि “लोटाना” ऐसा नही होता है मे जब नया नया सीख रही थी तो मुजे जब बोला जाता था Return तो मुजे यही लगता था की वापिस कुछ मिलेगा। लेकिन ऐसा नही होता है।

Return को अगर आसान भाषा मे समजे तो जो form मे हम सारा Income, खर्चे सारा कुछ बताते है वो Return है और हमे end मे Return मिलता है जहा लिखा होता है की Net income क्या है कोई loss जो आगे ले जा रहे है सारा कुछ। आप Goggle मे search करके देख सकते है।

ITR forms क्या है? (ITR Forms meaning in hindi?)

ITR Forms यानि की Income tax return forms जिसमे अलग अलग form होते है online। जो हम अपने Need के अनुसार file कर सकते है। हर एक इंसान की अलग अलग type की Income खर्च होते है इसलिए जरूरी नही है की आपका जो ITR form होगा वही आपके दोस्त और फॅमिली वालों को भी वही Return हो!

ITR filing क्या होता है? (what is ITR Filing in hindi?)

ITR file करना यानि हम जो ये process करते है सारी Income को अलग अलग head मे बताना कोनसी income कहा से आई है कितनी आई है, सारा कुछ ये जो Process है उसको ITR filing कहते है। अब जानते है की ITR forms के बारे मे की कोनसे कोनसे ITR forms होते है।

ITR कोन भर सकता है? (who can file ITR in hindi?)

  •  जिनकी Income Basic Exemption लिमिट से ज्यादा है तो उनको
    तो ITR file करनी ही होगी। 2.5 लाख की
    लिमिट से ज्यादा की Income पे तो आपको ITR file करना ही होगा।
  • आपको Income Tax refund Claim करना है उसको भी ITR file करना होगा।
  •  विदेश मे आपकी कोई संपति या Income है तो भी ITR file करना होगा।
  •  Visa के लिए Apply करना है तो भी ITR file करनी होगी।
  •  Loan लेके के लिए भी 2 साल का ITR file होना जरूरी है।
  • अभी कुछ नए rule आए है इस case मे भी ITR file करना होगा।
  • 1 करोड़ से ज्यादा Current account मे Deposit कराये है तो ITR file करना होगा।
  • 50 लाख से ज्यादा Saving account मे जमा कराये है तो भी ITR file करना होगा।
  • 25000 या उससे ज्यादा TDS Deduct हुआ है तो भी ITR file करना अनिवार्य है।
  • विदेश Travelling मे 2 लाख से ज्यादा खर्चा किया है तो 

ITR Forms कोनसे कोनसे है? (Types of ITR forms in hindi?)

ITR forms टोटल सात है जो ITR-1 से ITR 7 है। ITR 1 से 4 Individual और HUL के लिए है और 5 से 7 कंपनी और partnership के लिए लिए है और आज हम ITR 1 से 4 तक की बात करेगे Detail मे और बाकी ITR की भी थोड़ी सी Information दे दुगी।

ITR 1 – सहज

ITR 1 उन लोगो के लिए है किनकि नॉर्मल Type की Income है वो भी कम है जैसे की 50 लाख तक की Income के लिए आप ITR 1 file कर सकते है और Business वाले Individual ये ITR file नही कर सकते है नीचे आप देख सकते है की क्या क्या condition अगर मिलती है तो आप ITR-1 File कर सकते है।

ITR 1 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 1)

  • 50 लाख तक की Income वाले ITR 1 file कर सकते है।
  • Salary और Pension से अगर Income है तो ITR 1 file कर सकते है। 
  • अगर आपकी Income एक house property है तो ITR 1 file कर सकते है
  • Income From Other source से यानि की Saving account interest वगेरह जेसी   इंकम।
  • indian Resident Individual ही  ITR 1 file कर सकता है।
  • 5000 तक की Agriculture Income है तो ITR 1 file कर सकते है।

ITR 1 कोन File नही कर सकता है। (Who is Not eligible to file ITR 1)

  • 50 लाख से ज्यादा की Income वाले ITR 1 file नही कर सकते है।
  • Business वाले ITR 1 file नही कर सकते है।
  •  अगर आपकी Income एक house property ज्यादा है तो ITR 1 आपके लिए नही है।
  • Other  source जैसे की lottery, gaming, racing  से Income है तो भी आप ये ITR file नही कर सकते है।
  • अगर आप किसी कंपनी के Director है तो भी ITR 1 file नही कर सकते है।
  • Share market से होने वाली या Capital gain वाले ITR 1 नही कर सकते है।
  • Residents  but Non ordinarily resident (RNOR) और non-residents ये ITR -1 file नही कर सकते है। अगर आपको ये RNOR NR के बारे मे नही पता तो comment करे मे उसके उपर भी Post बना दुगी।
  •  5000 से ज्यादा की Agriculture Income है तो ITR 1 file नही कर सकते है।
  •  किसी Unlisted कंपनी के share आपके पास है तो भी ITR 1 नही file कर सकते है। Unlisted यानि जो share market मे List नही है वो share।

ITR 2

Basically जो limit ITR 1 मे वो ITR 2 मे नही है यानि जो ITR 1 नही file कर सकता वो ITR 2 कर सकता है अगर वो Individual/HUF है तो।

ITR 2 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 2)

  •   50 लाख से ज्यादा की Income वाले ITR 2 file कर सकते है।
  •  Salary और Pension से
    अगर Income है तो ITR 2 file कर सकते है
  •  Income From Other source से यानि की Saving account interest वगेरह जेसी इंकम। साथ मे Lottery, gaming racing से भी Income है वो भी ITR-2 file कर सकते है।
  • 5000 से ज्यादा की Agriculture Income है तो ITR 2 file कर सकते है।
  • किसी Unlisted कंपनी के share आपके पास है तो भी ITR 2 file कर सकते है। Unlisted यानि जो share market मे List नही है वो share।
  •   विदेश से कोई Income आ रही है वो भी ITR 2 वाले file कर सकते है।
  •  Listed share यानि Capital gain/loss वाले ITR 2 file कर सकते है।
  •  अगर आप किसी कंपनी के Director है तो भी ITR 2 file कर सकते है।

देखे तो ITR 1 मे जो सारे Exemption थे जिसकी वजह से आप ITR 1 file नही कर सकते वो सारे लोग ITR 2 file कर सकते है

ITR 2 कोन File नही कर सकता है। (Who is Not eligible to file ITR 2)

  • ITR 2 Individual/HUF के लिए है यानि Business/profession वाले ITR 2 भी नही file कर सकते है।
  • जो लोग ITR 1 file कर सकते है वो ITR 2 file नही कर सकते है।

ITR 2 Business / Profession वाले लोग को छोड़ के Mostly सारे लोग File कर सकते है।

ITR 3

ITR 3 मे mostly सारे Cover हो जाते है यानि की Business वाले profession वाले भी ITR 3 file कर सकते है

ITR 3 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 3)

  •  ITR 3 वो लोग file कर सकते है जो ITR 1 और 2 नही कर सकते है।
  • जो लोग Business या Profession से है वो ITR 3 file कर सकते है।
  • Salary, Other Source, Capital gain, house property वाले भी ITR 3 file कर सकते है।
  • जिन लोग की Income share market से short term और long term से है वो ITR 2 file कर सकते है बस Intra day वालों ITR 2 file नही करनी होती है 
  • Intra day speculative Income मानी जाती है इसलिए इसको Business income मानी जाती है ITR 3 file करनी होती है। मे अलग अलग ITR कैसे File करे उसके उपर भी post बना दुगी वह आपको Detail मे पता चल जाएगा की कैसे ITR file की जाती है। 

ITR 4 (sugam-सुगम)

ITR 4 मे जो लोग की Presumptive (अनुमानित/अंदाजीत) income दिखाना चाहते है है और जो लोग Section 44 AD, 44 ADA, 44AE के तहत अपना Business या Profession करते है और इन section के हिसाब से अपनी Income दिखाना चाहते है वो ITR 4 file कर सकते है।

ITR 4 कोन कोन file कर सकता है? (who can file ITR 4?)

  • जो Individual या HUF 44 AD और 44 AE section की तहत के Business मे आते है
  • Profession मे section 44 ADA मे आते है वो Individual या HUF भी file कर सकते है।
  • Salary/pension से 50 लाख तक की income आती है वो।
  • एक House/ Property से income 50 लाख तक की income है वो(लॉस आप इस ITR मे Forward नही कर सकते है
  • Other source से 50 लाख तक की income वाले भी ITR 4 file कर सकते है लेकिन Lottery, gaming से income वाले ये ITR file ननही कर सकते है।
  • Freelancer भी 50 लाख तक की Receipt मे ये ITR file कर सकते है। Freelancer की income Profit and gain के head मे Income tax मे आती है यानि की Freelancer की income Professional income मनी जाती
    है।

ITR 4 कोन file नही कर सकता? (who can not file ITR 4?)

  • ITR 4 जिन की salary, Pension, house income, Other source से किसी मे भी 50 लाख से ज्यादा है वो File नही कर सकते है। यानि की यानि की salary की limit 50 लाख
    है, other source की limit 50 लाख और house property की भी
    limit 50 लाख की है।
  • एक से ज्यादा house property से income वाले भी आईटीआर 4 नही file कर सकते है।
  • जिनका Books का Audit होता है वो भी आईटीआर 4 file नही कर सकते है।विदेश से किनकि Income है वो ITR 4 file नही कर सके।
  • अगर किसी unlisted company के share आपके पास है तो भी आईटीआर 4 file नही कर सकते

ITR 4 Basically Small Taxpayer के लिए है जिनकी Income बहुत ज्यादा नही है।अगर
आपको ये Section के बारे मे नही पता तो थोड़ासा Intro दे देती हु की Section 44 AD, 44ADA और  44 AE क्या है?

Section 44AD

  • Section 44AD मे आपको 5 साल तक यही continue रखना होगा आप बीच मे इसको change नही कर सकते है। जो लोग का Business turnover upto 2 करोड़ है तो आप Presumptive Scheme रख सकते है।
  • Section 44 AD Business वालों के लिए है profession के लिए 44ADA है।
  • Section 44 AD के हिसाब से आपको अपना Gross Profit 8% और cash मे Turnover है तो 6% Profit Declare करना होगा।
  • Section 44 AD मे आपको Account maintain करने की जरूरत नही है आप करना चाहे तो कर सकते है लेकिन
    दूसरे ITR मे आपको Proper Accounting maintain करनी होती है। Audit की अभी आव्श्क्ता नही होती
    है।

Section 44ADA

  • Section 44 ADA Presumptive Taxation का एक Section है जो Profession के लिए है।
  • Section 44 ADA जिन लोग की Professional Gross Receipt 50 लाख तक है वो Opt कर सकते है।
  • Section 44 ADA मे Gross Receipt के Minimum 50% profit दिखाना होगा। अगर कम है तो आप ये ITR नही file कर सकते है।
  • Individual, HUF partnership firms वाले ये Scheme opt कर सकते है कंपनी या LLP (limited liability partnership) नही ले सकती।
  • Professionals मे जो 44ADA मे आते है वो है Interior Decorations, Technical Consulting, Engineering, Accounting, Legal, Medical, Architecture, Movie Producer, Music Director, doctor, Writer इस सारे Type के जो समान नही बेचते है लेकिन Service देते है वो भी Profession मे आएगा।
  • यहा आपको खर्चे Less नही करने को मिलेगे लेकिन
    50% profit दिखाना है तो 50% खर्चे है तो फाइदा हमे
    ही है क्यूकी हमारे Expenses इतने ज्यादा नही होते है।
  • मन लो आपकी Gross Receipt 30 लाख है और 10 लाख खर्चा हुआ है तो ITR 4 file करेगे तो आपको 30 लाख के 50% यानि 15 लाख पे Tax देना होगा।
  • अगर आप ITR 3 फ़ाइल करेगे तो 30 लाख income 10 लाख खर्चे तो 20 लाख पे tax देना होगा। तो आप समज सकते है की किसमे फाइदा ज्यादा है।
  • अगरआपकी Receipt 50 लाख से कम है तो आप ये फाइदा ले सकते है।
  • Section 44 ADA मे भी आपको Books maintain करने की जरूर नही है और Audit की भी नही।
  • लेकिन अगर आपकी income Basic Exemption से ज्यादा है तो Books maintain करनी होगी और अगर 50% से कम Receipts है तो Audit करना होगा। सेम 44 AD मे भी है।

Section 44 AE

  • Section 44 AE उन Business के लिए है जो गाड़ियो को rent पे देते है, या माल यहा से वह Transport का कम करते है या इससे related कोई और काम।
  • अगर आप के पास 10 गाड़ी है या उससे कम तो आप आप ये Opt कर सकते है।
  • ये Section उनके लिए है जिनकी income Rs. 7500 है per month per vehicle यानि की एक Vehicle से आपको महीने का 7500 आ रहा है तो ये Scheme आप Opt कर सकते है।
  • अगर 7500 से कम आ रहा है तो आप इसमे ITR file नही कर सकते और account भी maintain करने होगे साथ मे audit भी करना होगा।

तो ये थे Section 44 AD, 44 ADA और 44 AE के बारे मे मैं चिज़े जो आपको पता रहनी चाहिए ITR filing time पे।

ITR 5 

ITR 5 Partnership, Firms, LLPs (Limited Liability Partnership), AOPs (Association of Persons), BOIs (Body of Individuals), Artificial Juridical Person (AJP), Estate of deceased, Estate of insolvent, Business trust और investment fund के लिए है।

ITR 6

ITR 6 उन company के लिए है जो section 11 मे Exemption claim करती है। 

ITR 7

कोई Individual या Company जिसको अपनी Income Section 139(4A), Section 139(4B), Section 139(4C), Section 139(4D), Section 139(4E) और Section 139(4F) मे बतानी होती है वो ITR 7 File कर सकते है। 

Income Tax Return कैसे फाइल करे?

Income Tax return filing करने के लिए आप Income Tax के पोर्टल में जाके फाइल कर सकते हैं नीचे मेने लिंक दे दी है।

Income Tax portal

आप गूगल में e filing ITR search करेगे तो भी इनकम टेक्स कि site show ho जायेगी आप वहा से भी कर सकती है। 

तो ये थे सारे के सारे ITR अगर आपको कोई भी प्रोब्लम हैं तो। comment करे।

1. ITR Forms क्या है? (what is ITR Forms in hindi?)

ITR का Full Form Income Tax Return है। ITR form यानि की हर एक इंसान की अलग अलग जगह से Income आती है तो Income tax मे 7 Type के अलग अलग Form है। और सब मे अलग अलग rules है की कोनसी Income पे और कितनी इंकम तक कोनसा ITR File कर सकता है? हर एक इंसान की need के हिसाब से अलग अलग form होते है। जैसे की अगर आप जॉब करते है तो आपके लिए अलग Form होता है और Business करते है तो अलग ।

2. ITR क्या है? (ITR meaning in hindi?)

ITR का Full form Income tax return है हम जहा सारी Incomes,
खर्चे,Investments, Deduction और  Exemption  सारा कुछ बताते है वो Income Tax Return है। 
Return को अगर आसान भाषा मे समजे तो जो form मे हम सारा Income, खर्चे सारा कुछ बताते है वो Return है और हमे end मे Return मिलता है जहा लिखा होता है की Net income क्या है कोई loss जो आगे ले जा रहे है सारा कुछ। आप Goggle मे search करके देख सकते है।

3. ITR forms क्या है? (ITR Forms meaning in hindi?)

ITR Forms यानि की Income tax return forms जिसमे अलग अलग form होते है online। जो हम अपने Need के अनुसार file कर सकते है। हर एक इंसान की अलग अलग type की Income खर्च होते है इसलिए जरूरी नही है की आपका जो ITR form होगा वही आपके दोस्त और फॅमिली वालों को भी वही Return हो!

4. ITR filing क्या होता है? (what is ITR Filing in hindi?)

ITR file करना यानि हम जो ये process करते है सारी Income को अलग अलग head मे बताना कोनसी income कहा से आई है कितनी आई है, सारा कुछ ये जो Process है उसको ITR filing कहते है। 

5. इनकम टैक्स कब भरना पड़ता है? (who can file ITR in hindi?)

जिनकी Income Basic Exemption लिमिट से ज्यादा है तो उनको तो ITR file करनी ही होगी। 2.5 लाख की लिमिट से ज्यादा की Income पे तो आपको ITR file करना ही होगा।
आपको Income Tax refund Claim करना है उसको भी ITR file करना होगा।
विदेश मे आपकी कोई संपति या Income है तो भी ITR file करना होगा।
Visa के लिए Apply करना है तो भी ITR file करनी होगी।
Loan लेके के लिए भी 2 साल का ITR file होना जरूरी है।
अभी कुछ
नए rule आए है इस case मे भी ITR file करना होगा।
1 करोड़ से ज्यादा Current account मे Deposit कराये है तो ITR file करना होगा।
50 लाख से ज्यादा Saving account मे जमा कराये है तो भी ITR file करना होगा।
25000 या उससे ज्यादा TDS Deduct हुआ है तो भी ITR file करना अनिवार्य है।
विदेश Travelling मे 2 लाख से ज्यादा खर्चा किया है।

6. ITR Forms कोनसे कोनसे है? (Types of ITR forms in hindi?)

ITR forms टोटल सात है जो ITR-1 से ITR 7 है। ITR 1 से 4 Individual और HUL के लिए है और 5 से 7 कंपनी और partnership के लिए है 

Income Tax Return कैसे फाइल करे?

Income Tax return filing करने के लिए आप Income Tax के पोर्टल में
जाके फाइल कर सकते हैं नीचे मेने लिंक दे दी है।
Income Tax portal आप गूगल में e filing ITR search करेगे तो भी इनकम टेक्स कि site show ho जायेगी आप वहा से भी कर सकती है। 

8. ITR 1 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 1)

·   50 लाख तक की Income वाले ITR 1 file कर सकते है।
·  Salary और Pension से अगर Income है तो ITR 1 file कर सकते है। 
·  अगर आपकी Income एक house property है तो ITR 1 file कर सकते है
·   Income From Other source से यानि की Saving account interest वगेरह जेसी  इंकम।
·   Indian Resident Individual ही  ITR 1 file कर सकता है।
·   5000 तक की Agriculture Income है तो ITR 1 file कर सकते है।

9. ITR 1 कोन File नही कर सकता है। (Who is Not eligible to file ITR 1)

50 लाख से ज्यादा की Income वाले ITR 1 file नही
कर सकते है।
Business वाले ITR 1 file नही कर सकते है।
 अगर आपकी Income एक house property ज्यादा है तो ITR 1 आपके लिए नही है।
Other  source जैसे की lottery, gaming, racing  से Income है तो भी आप ये ITR file नही कर सकते है।
अगर आप किसी कंपनी के Director है तो भी ITR 1 file नही कर सकते है।
Share market से होने वाली या Capital gain वाले ITR 1 नही कर सकते है।
Residents  but Non ordinarily resident (RNOR) और non residents ये ITR -1 file नही कर सकते है। अगर आपको ये RNOR NR के बारे मे नही पता तो comment करे
मे उसके उपर भी Post बना दुगी।  5000 से ज्यादा की Agriculture Income है तो ITR 1 file नही कर सकते है।
 किसी Unlisted कंपनी के share आपके पास है तो भी ITR 1
नही file कर सकते है। Unlisted यानि जो share market मे List नही है वो share।

10. ITR 2 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 2)

  50 लाख से ज्यादा की Income वाले ITR 2 file कर सकते है।
 Salary और Pension से अगर Income है तो ITR 2 file कर सकते है
 Income From Other source से यानि की Saving account interest वगेरह जेसी इंकम। साथ मे Lottery, gaming racing से भी Income है वो भी ITR-2 file कर सकते है।
5000 से ज्यादा की Agriculture Income है तो ITR 2 file कर सकते है।
किसी Unlisted कंपनी के share आपके पास है तो भी ITR 2 file कर
सकते है। Unlisted यानि जो share market मे List नही है वो share।
  विदेश से कोई Income आ रही है वो भी ITR 2 वाले file कर सकते है।
 Listed share यानि Capital gain/loss वाले ITR 2 file कर सकते है।
 अगर आप किसी कंपनी के Director है
तो भी ITR 2 file कर सकते है।

11. ITR 2 कोन File नही कर सकता है। (Who is Not eligible to file ITR 2)

ITR 2 Individual/HUF के
लिए है यानि Business/profession वाले ITR 2 भी नही file कर सकते है।
जो लोग ITR 1 file कर सकते है वो ITR 2 file नही कर सकते है।
ITR 2 Business / Profession वाले लोग को छोड़ के Mostly सारे लोग File कर सकते है।

12. ITR 3 कोन File कर सकता है। (Who is eligible to file ITR 3)

 ITR 3 वो लोग file कर सकते है जो ITR 1 और 2 नही कर सकते है।
जो लोग Business या Profession से है वो ITR 3 file कर सकते है।
Salary, Other Source, Capital gain, house property वाले भी ITR 3 file कर सकते है।
जिन लोग की Income share market से short term और long term से है वो ITR 2 file कर सकते है बस Intra day वालों ITR 2 file नही करनी होती है 
Intra day speculative Income मानी जाती है इसलिए इसको Business income मानी जाती है ITR 3 file करनी होती है। मे अलग अलग ITR कैसे File करे उसके उपर भी post बना दुगी वह आपको Detail मे पता चल जाएगा की कैसे ITR file की जाती है। 

13. ITR 4 कोन कोन file कर सकता है? (who can file ITR 4?)

जो Individual या HUF 44 AD और 44 AE section की तहत के Business मे आते है
Profession मे section 44 ADA मे
आते है वो Individual या HUF भी file कर सकते है।
Salary/pension से
50 लाख तक की income आती है वो।
एक House/ Property से income 50 लाख तक की income है वो(लॉस आप इस ITR मे Forward नही
कर सकते है
Other source से
50 लाख तक की income वाले भी ITR 4 file कर सकते है लेकिन Lottery, gaming से income वाले ये ITR file ननही कर सकते है।
Freelancer भी
50 लाख तक की Receipt मे ये ITR file कर सकते है। Freelancer की income Profit and gain के head मे Income tax मे आती है यानि की Freelancer की income Professional income मानी जाती है।

14. ITR 4 कोन file नही कर सकता? (who can not file ITR 4?)

ITR 4 जिन की salary, Pension, house income, Other source से किसी मे भी 50 लाख से ज्यादा है वो File नही कर सकते है। यानि की यानि की salary की limit 50 लाख है, other source की limit 50 लाख और house property की भी limit 50 लाख की है।
एक से ज्यादा house property से income वाले भी आईटीआर 4 नही file कर
सकते है।
जिनका Books का Audit होता है वो भी आईटीआर 4 file नही
कर सकते है।विदेश से किनकि Income है वो ITR 4 file नही कर सके।अगर
 
किसी unlisted company के share आपके पास है तो भी आईटीआर 4 file नही कर सकते
ITR 4 Basically Small Taxpayer के लिए है जिनकी Income बहुत ज्यादा नही है।

15. Section 44AD क्या है?

जिन लोग का Small Business है वो Section 44 AD के तहत Scheme ले सकते है।
जो लोग का Business turnover upto 2 करोड़ है तो आप Presumptive Scheme रख सकते है। Section 44AD मे आपको 5 साल तक यही continue रखना
होगा आप बीच मे इसको change नही कर सकते है। 
Section 44 AD Business वालों के लिए है profession के लिए 44ADA है।
Section 44 AD के
हिसाब से आपको अपना Gross Profit 8% और cash मे Turnover है तो 6% Profit Declare करना होगा।
Section 44 AD मे
आपको Account maintain करने की जरूरत नही है आप करना चाहे तो कर सकते
है लेकिन दूसरे ITR मे आपको Proper Accounting maintain करनी होती है। Audit की अभी आव्श्क्ता नही होती है।

16. Section 44ADA क्या है?

Section 44 ADA Presumptive Taxation का एक Section है जो Profession के लिए है।
Section 44 ADA जिन
लोग की Professional Gross Receipt 50 लाख तक है वो Opt कर
सकते है।
Section 44 ADA मे Gross Receipt के Minimum 50% profit दिखाना होगा। अगर कम है तो आप ये ITR नही file कर
सकते है।
Individual, HUF partnership firms वाले ये Scheme opt कर सकते है कंपनी या LLP (limited liability partnership) नही ले सकती।
Professionals मे
जो 44ADA मे
आते है वो है Interior Decorations, Technical Consulting, Engineering, Accounting, Legal, Medical, Architecture, Movie Producer, Music Director, doctor, Writer इस सारे Type के जो समान नही बेचते है लेकिन Service देते
है वो भी Profession मे आएगा।
यहा आपको खर्चे Less नही करने को मिलेगे लेकिन 50% profit दिखाना
है तो 50% खर्चे है तो फाइदा हमे ही है क्यूकी हमारे Expenses इतने
ज्यादा नही होते है।
मन लो आपकी Gross Receipt 30 लाख है और 10 लाख खर्चा हुआ है तो ITR 4 file करेगे
तो आपको 30 लाख के 50% यानि 15 लाख पे Tax देना होगा।
अगर आप ITR 3 फ़ाइल करेगे तो 30 लाख income 10
लाख खर्चे तो 20 लाख पे tax देना होगा। तो आप समज सकते है की किसमे फाइदा
ज्यादा है।
अगर आपकी Receipt 50 लाख से कम है तो आप ये फाइदा ले सकते है।
Section 44 ADA मे
भी आपको Books maintain करने की जरूर नही है और Audit की भी
नही।
लेकिन अगर आपकी income Basic Exemption से ज्यादा है तो Books maintain करनी होगी और अगर 50% से कम Receipts है
तो Audit करना होगा। सेम 44 AD मे
भी है।

17. Section 44 AE क्या है?

Section 44 AE उन Business के
लिए है जो गाड़ियो को rent पे देते है, या माल यहा से वह Transport का
कम करते है या इससे related कोई और काम।
अगर आप के पास 10 गाड़ी है या उससे कम तो आप आप
ये Opt कर सकते है।
ये Section उनके लिए है जिनकी income Rs. 7500
है per month per vehicle यानि की एक Vehicle से आपको महीने का 7500 आ रहा है तो ये Scheme आप Opt कर
सकते है।
अगर 7500 से कम आ रहा है तो आप इसमे ITR file नही
कर सकते और account भी maintain करने होगे साथ मे audit भी
करना होगा।

18. ITR 5  कोन file कर सकता है?

ITR 5 Partnership, Firms, LLPs (Limited
Liability Partnership), AOPs (Association of Persons), BOIs (Body of
Individuals), Artificial Juridical Person (AJP), Estate of deceased, Estate of insolvent, Business trust और investment fund के लिए है।

19.  ITR 6 कोन file कर सकता है?

ITR 6 उन company के लिए है जो section 11 मे Exemption claim करती है। 

 

Leave a Comment